SB News

Rajasthan Expressway: राजस्थान में यहाँ बनेंगे नए एक्सप्रेस वे, चिन्हित किए जा रहे ये नए रूट

New Expressway In Rajasthan: राजस्थान को जल्द ही नए एक्सप्रेस वे की सौगात मिलने जा रही है. इसको लेकर एक नई टास्क फ़ोर्स का गठन राजस्थान की उप मुख्यमंत्री दिया कुमारी की तरफ से किया गया है. कैसे बनाया जाएगा राजस्थान को एक्सप्रेस वे की राजधानी, जानिए इस रिपोर्ट में...

 | 
Rajasthan Express Way

SB News Digital Desk, नई दिल्ली: राजस्थान की उपमुख्यमंत्री दीया कुमारी का लक्ष्य राजस्थान को नए एक्सप्रेस वे के रूप में अलग पहचान दिलाना है। उनका प्रयास है कि राजस्थान को भारत के एक्सप्रेस वे की राजधानी बनाया जाए। इसको लेकर उन्होंने राजस्थान में नए एक्सप्रेस वे की पहचान के लिए टास्क फोर्स का गठन कर दिया गया है। जो 6 महीने में संभावित एक्सप्रेस वे के मार्गों का चिन्हीकरण करने के बाद रिपोर्ट प्रस्तुत करेगी।
 

इस प्रकार किया गया है टास्क फ़ोर्स का गठन

आपणो अग्रणी राजस्थान संकल्प पत्र 2023 के तहत राजस्थान में नए एक्सप्रेस वे के मार्गों की पहचान की जानी है। इसके लिए उपमुख्यमंत्री और सार्वजनिक निर्माण विभाग मंत्री दीया कुमारी ने इस अभियान की शुरुआत की है।

इसको लेकर अब राजस्थान में नए एक्सप्रेस वे के मार्गों का पहचान की जाएगी। इसके लिए दीया कुमारी ने टास्क फोर्स का गठन कर दिया है। अब यह टास्क फोर्स आपणो अग्रणी राजस्थान संकल्प पत्र 2023 के तहत कार्य करेगी। इसके तक यह टास्क फोर्स 6 महीने में संभावित एक्सप्रेस वे का चिन्हीकरण कर रिपोर्ट प्रस्तुत करेगी।
 

इनको किया गया है शामिल

उप मुख्यमंत्री दीया कुमारी ने टास्क फोर्स में सार्वजनिक निर्माण विभाग के शासन सचिव, संजीव माथुर, मुख्य अभियन्ता एवं अतिरिक्त सचिव डीआर मेघवाल, मुख्य अभियन्ता (एनएच) विकास दीक्षित, मुख्य अभियन्ता (गुणवत्ता नियंत्रण) मुकेश भाटी, अधीक्षण अभियन्ता अनुप गहराना, अनुपम गुप्ता एवं राजीव अग्रवाल को शामिल किया गया है।

राजस्थान में कितने एक्सप्रेस वे है?

प्राप्त जानकारी के अनुसार राजस्थान में अब तक एक्टिव एक्सप्रेस वे की संख्या 4 है. इनमें अमृतसर-जामनगर एक्सप्रेसवे, दिल्ली-जयपुर-मुंबई एक्सप्रेस वे, जयपुर-किशनगढ़ एक्सप्रेस वे, लुधियाना-भटिंडा-अजमेर एक्सप्रेसवे को शामिल किया गया है.

इनमे राजस्थान में सबसे ज्यादा दुरी तय करने वाला एक्सप्रेस वे अमृतसर-जामनगर एक्सप्रेसवे (एनएच-754ए) जो कि भारत के उत्तर-पश्चिमी भाग में 1,257 किमी लंबा, 6-लेन चौड़ा एक निर्माणाधीन एक्सप्रेसवे है। एक्सप्रेसवे अमृतसर और जामनगर के बीच की दूरी को पहले के 1,430 किमी से घटाकर 1,316 किमी (कपूरथला-अमृतसर खंड सहित)  हो गई है/और यात्रा का समय 26 घंटे से घटकर केवल 13 घंटे रह गई है। भारतमाला और अमृतसर-जामनगर आर्थिक गलियारे (EC-3) का एक हिस्सा है। यह चार राज्यों पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और गुजरात से होकर गुजर रहा है.

WhatsApp Group Join Now
google news Follow On Google News Follow us