SB News

केंद्रीय कर्मचारयों के बल्ले-बल्ले हो गई, सीधे सैलरी में होगा 9000 रुपये का इजाफा, जानें अधिक

केंद्रीय कर्मचारियों के लिए यह साल काफी अच्छा ग्रेड लेकर आया है. जनवरी माह में लोगों को 50 फीसदी बढ़ोतरी मिलेगी. इसकी घोषणा केंद्र सरकार ने की है. इसी बीच एक और खबर आ रही है कि केंद्रीय कर्मचारियों के डीए बिजनेस में न सिर्फ बढ़ोतरी की गई है.

 | 
news

SB News Digital Desk नई दिल्ली : केंद्र सरकार के एक नियम की वजह से ऐसा होने वाला है। ये नियम साल 2016 में बना था। इसके बाद मार्च महीने में इसकी मंजूरी मिलने वाली है। इसके बाद 8वें वेतन आयोग को लेकर खबरें आ रही है।

वहीं केंद्रीय कर्मचारियों को छह महीने में डीए भत्ता बढ़ाया जाता है। इस समय में कर्मचारियों को 46 फीसदी की दर से डीए मिल रहा है। जनवरी 2024 से डीए बढ़कर 50 फीसदी हो जाएगा। इसके बाद नियमों के मुताबिक इसको जीरो कर दिया जाएगा। यहीं केंद्र सरकार का बनाया गया नियम है कि सालव 2016 में सरकार ने नियम बनाया था जैसे ही डीए 50 फीसदी पहुंचेगा। इसको जीरो कर दिया जाएगा।

बेसिक सैलरी में तगड़ा इजाफा होगा। इसके लिए थोड़ा फ्लेशबैक में चलता है। सरकार ने साल 2016 में 7वें वेतन को लागू किया था। जिसके बाद डीए को शून्य कर दिया था। डीए के शून्य करने से ये लाभ हुआ कि उनका पहले वाला डीए उनकी सैलरी में ऐड कर दिया गया था। वहीं एक बार फिर से होने जा रहा है। डीए को एक बार फिर से सैलरी में ऐड किया जाएगा। यानि कि 8वें वेतन आयोग के गठन का समय आ गया है।

अगर डीए जीरो होता है तो डीए फिर से 1 से 2 फीसदी शुरु होगा। ऐसा इसलिए होगा क्यों कि 50 फीसदी डीए पहुंचने के बाद सैलरी को मर्ज कर दिया जाएगा। इससे कर्मचारियों को अपनी सैलरी रिविजन के लिए काफी इंतजार करना होगा। डीए 100 फीसदी से भी ऊपर निकल जाता था।
 

इस समय पे-बैंड लेवल 1 पर 18 हजार रुपये बेसिक सैलरी है। ये सबसे मिनिमम है। यदि इसकी कैलकुलेशन को देखें तो कुल मिलाकर अभी 7560 रुपये बतौर डीए मिलता है। लेकिन यदि डीए 50 फीसदी होता है तो 9 हजार रुपये प्राप्त होंगे। 50 फीसदी होने के बाद डीए शुन्य होता है तो 18 हजार रुपये वाली सैलरी में 9 हजार रुपये ऐड होकर 27 हजार रुपये हो जाएंगे। इसके बाद डीए 27 हजार रुपये पर कैलकुलेट किया जाएगा।

केंद्रीय कर्मचारयों को 42 फीसदी डीए मिलेगा। अब अगला रिवीजन जुलाई 2023 में होना है। जिसमें 4 फीसदी का इजाफा हो सकता है। यानि कि जुलाई के बाद 46 फीसदी की दर से डीए बढ़ेगा। अगर 4 फीसदी डीए में इजाफा होगा। तो 50 फीसदी डीए हो जाएगा। इसके बाद 49 फीसदी हो जाएगा। यानि कि 50 फीसदी होने पर डीए जीरो हो जाएगा। इस प्रकार ये 49 फीसदी ही रहेगा।

 

WhatsApp Group Join Now
google news Follow On Google News Follow us