SB News

किसानों में खुशी की लहर, 75 सब्सिडी के साथ लग रहे सोलर पंप, फटाफट जाने डिटेल

 | 
सोलर

SB News Digital Desk, नई दिल्ली: किसानों में खुशी की लहर, 75 सब्सिडी के साथ लग रहे सोलर पंप, फटाफट जाने डिटेल देश की केंद्र सरकार और राज्य सरकार दोनों ही लोगों के लिए काफी सारी स्कीम चला रही है। जिसके तहत लोगों को काफी लाभ हो रहा है। आपको बता दें सरकार पीएम किसान योजना के साथ किसान क्रेडिट कार्ड योजना के तहत किसानों को काफी लाभ दे रही है। आपको बता दें हाल ही में हरियाणा सरकार ने सौर पंप सब्सिडी योजना का लाभ दे रही है। इसके तहत किसानों को खेती में होने वाले खर्च में कमी लाने में काफी कमी आएगी।

आपको बता दें पहले आओ और पहले पाओ की नीति के तहत सरकार सोलर पंप कनेक्शन दे रही है। राज्य के किसान इसका भरपूर तरीके से लाभ उठा सकते हैं। इस स्कीम के तहत सरकार सिंचाई के लिए कीमती डीजल नहीं जलाना पड़ रहा है। किसानों का कहना है कि इस स्कीम के तहत उनकी खेती में सिंचाई के लिए ज्यादा महंगा डीजल नहीं जलाना पड़ रहा है। वहीं किसानों का कहना है कि इस स्कीम के तहत खेती में होने वाला खर्च काफी कम हो रहा है और इनकम बढ़ रही है।

वहीं जानकारी के लिए बता दें अगर एक किसान ट्यूबवेल से सिचांई करता है तो 1 अकड़ की सिंचाई के लिए करीब 15 घंटे का समय लगता है और डीजल इंजन से ये सिंचाई की जाती है तो करीब 1000 रुपये से लेकर 1500 रुपये तक का डीजल की खर्च होता है और किसी भी फसल में 5 से 6 बार सिंचाई करने पर किसान का लभगभ 10 हजार रुपये का खर्च होता है। लेकिन किसान इस हो रहे खर्च को बचा सकते हैं जिसके लिए केंद्र सरकार की कुसुम योजना काफी सहीं साबित हो रही है और 75 फीसदी सब्सिडी पर सौर पंप दिए जा रहे हैं।

 

बता दें हरियाणा सरकार सोरल पंप सब्सिडी योजना के तहत 75 फीसदी सब्सिडी पर किसानों को 3एचपी से 10एचपी के सोलर वाटर पंप दे रही है। इस स्कीम का लाभ वही किसान ले सकते हैं जिनके पास बिजली पंप का कनेक्शन न हो, किसान के पास खेती का मालिकाना हक और किसान ने पहले सोलर पंप का कनेक्शन न ले रखा हो।

किसानों का कहना है कि ये सरकार की इस स्कीम के लाभ से जहां से अब उन्हें डीजल नहीं जलाना पड़ता है वहीं समय की भी काफी सेविग हो जाती है और वे पंप को अपने मोबाइल से भी ऑपरेट कर पाते हैं पहले डीजल इंजन चलाकर उसके पास बैठना पड़ता था लेकिन अब ऐसी कोई समस्या नहीें हो रही है। किसान सरकार का शुक्रिया करते हुए कह रहे हैं कि पंप लगाने के बाद अब सभी प्रकार की खेती आसानी से हो रही है।

अधिकारी सुधीर सांगवान कहते हैं कि पूरे जिले में अभी तक सौर पंप सब्सिडी स्कीम के तहत 1 हजार कनेक्शन कराएं गए हैं। इतने ही कनेक्शन के लिए अप्लीकेशन मिल चुका है। क्यों कि इस पंप से किसानों का खेती में होने वाला खर्च काफी कम हो रहा है। पहले किसान बिजली से पंप या फिर डीजल इंजन से सिंचाई करते थे जिससे काफी खर्च आता था। क्यों कि इस समय डीजल की कीमत 90 रुपये प्रति लीटर है। इस हिसाब से ये स्कीम किसानों के लिए वरदान साबित हो रही है।

 

WhatsApp Group Join Now
google news Follow On Google News Follow us