SB News

Ganesh Chaturthi 2023: आज है गणेश चतुर्थी! जानिए गणपति बप्पा को घर लाने का शुभ मुहूर्त, स्थापना और पूजा की विधि

Ganesh Chaturthi 2023 Today: देश का सबसे बड़ा त्यौहार गणेश चतुर्थी 2023 देशभर में आज धूम-धाम से मनाया जाएगा. कुछ जगहों पर यह पवित्र त्यौहार का जश्न कल भी मनाया गया था. 
 | 
Ganesh Chaturthi

SB News Digital Desk, नई दिल्ली: Ganesh Chaturathi 2023: आज है गणेश चतुर्थी! जानिए गणपति बप्पा को घर लाने का शुभ मुहूर्त, स्थापना और पूजा की विधि, हिंदू धर्म में भगवान गणेश की उपासना का विशेष महत्व है। विघ्नहर्ता भगवान गणेश प्रथम पूजनीय देवता हैं। मान्यता है कि भगवान गणेश की उपासना करने से सुख-समृद्धि, बुद्धि व बल आदि का आशीर्वाद प्राप्त होता है। हर साल भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को भगवान गणेश का जन्मोत्सव धूमधाम के साथ मनाया जाता है। इस दिन को गणेश चतुर्थी के नाम से भी जानते हैं।(Ganesh Chaturthi 2023)

इस दिन लोग गणपति को ढोल-नगाड़ों के साथ लाते हैं और उन्हें स्थापित करने के बाद विधि-विधान से पूजा-अर्चना करते हैं और अनंत चतुर्दशी के दिन उन्हें विदा किया जाता है। लेकिन इस साल गणेश चतुर्थी की डेट को लेकर लोगों के बीच कंफ्यूजन है, जानें कब है गणेश चतुर्थी-

गणेश चतुर्थी 2023 की तिथि- Ganesh Chaturthi 2023 date

हिंदू पंचांग के अनुसार, इस साल भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि 18 सितंबर को दोपहर 12 बजकर 39 मिनट से प्रारंभ होगी और 19 सितंबर को दोपहर 01 बडकर 43 मिनट पर समाप्त होगी। उदयातिथि मान्य होने के कारण इस साल गणेश चतुर्थी का पावन पर्व 19 सितंबर 2023, मंगलवार को मनाया जाएगा। इस दिन रवि योग का भी शुभ संयोग बन रहा है।

गणपति स्थापना का शुभ मुहूर्त- Ganesh Chaturthi 2023 Shubh Muhurt

ज्योतिषाचार्यों के अनुसार, 19 सितंबर का दिन गणेश स्थापना के लिए अत्यंत शुभ माना जा रहा है। 19 सितंबर को गणेश स्थापना का शुभ मुहूर्त सुबह 11 बजकर 01 मिनट से दोपहर 01 बजकर 28 मिनट तक है।

गणपति पूजा मुहूर्त- Ganpati Puja Muhurat 

ऐसा माना जाता है कि भगवान गणेश का जन्म मध्याह्न काल के दौरान हुआ था इसीलिए दोपहर के समय को गणेश पूजा के लिये ज्यादा शुभ माना जाता है। हिंदू दिन के विभाजन के अनुसार मध्याह्न काल, अंग्रेजी समय के अनुसार दोपहर के समान होता है। मध्याह्न मुहूर्त में, भक्त-लोग पूरे विधि-विधान से गणेश पूजा करते हैं जिसे षोडशोपचार गणपति पूजा भी कहा जाता है।

गणेश मूर्ति स्थापना विधि-

1. सबसे पहले चौकी पर गंगाजल छिड़कें और इसे शुद्ध कर लें।

2. इसके बाद चौकी पर लाल रंग का कपड़ा बिछाएं और उस पर अक्षत रखें।

3. भगवान श्रीगणेश की मूर्ति को चौकी पर स्थापित करें।

4. अब भगवान गणेश को स्नान कराएं और गंगाजल छिड़कें।

5. मूर्ति के दोनों ओर रिद्धि-सिद्धि के रूप में एक-एक सुपारी रखें।

6. भगवान गणेश की मूर्ति के दाईं ओर जल से भरा कलश रखें।

7. हाथ में अक्षत और फूल लेकर गणपति बप्पा का ध्यान करें।

8. गणेश जी के मंत्र ऊं गं गणपतये नम: मंत्र का जाप करें।

गणेश चतुर्थी पर न करें चंद्रदर्शन-

गणेश चतुर्थी के दिन चन्द्र-दर्शन वर्ज्य होता है। ऐसा माना जाता है कि इस दिन चन्द्र के दर्शन करने से मिथ्या दोष अथवा मिथ्या कलंक लगता है जिसकी वजह से दर्शनार्थी को चोरी का झूठा आरोप सहना पड़ता है। (Ganesh Chaturthi 2023)

कब होगा गणेशोत्सव का समापन-

हर साल गणेशोत्सव का समापन अनंत चतुर्दशी के दिन किया जाता है। इस साल गणेश उत्सव का समापन 28 सितंबर 2023, गुरुवार को होगा। इस दिन ही देशभर में गणेश विसर्जन किया जाएगा।

WhatsApp Group Join Now
google news Follow On Google News Follow us